चीनी सामान का बहिष्कार व राष्ट्रपति का पुतला फूंकर जताया विरोध
June 20, 2020 • Akram Choudhary

-आगे से चीनी माल लेना बंद करे व्यापारी- नरेश कुच्छल

 -आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ते कदम ने चीन की तोड़ी कमर

नोएडा(अमन इंडिया)। गलवान घाटी में भारत चीन के बीच हुई हिंसक झड़प को कायरता पूर्ण बताते हुए उप्र व्यापार प्रतिनिति मंडल ने चीन के राष्ट्रपति का पुतला फूंका। साथ ही व्यापारियों ने एक मत से चीनी सामान के बहिष्कार की फैसला लिया। व्यापारियों ने शहीद हुए जवानों के प्रति श्रद्धांजली अर्पित की और केंद्र सरकार से चीन को मुंह तोड़ जवाब देने की आवाज उठाई।

उप्र व्यापार प्रतिनिधि मंडल नोएडा इकाई के चेयरमैन रामअवतार ने कहा कि चीन को इस कृत्य की सजा उसे दोहरी मार देकर चुकानी पड़ेगी। चीनी सामान का बहिष्कार कर उसे आर्थिक क्षति पहुंचानी होगी साथ ही मुंह तोड़ जवाब देकर उसे याद दिलाना होगा कि यह नए युग का भारत है जो आत्मनिर्भरता की और बढ़ चुका है। वहीं, प्रतिनिधि मंडल नोएडा इकाई के अध्यक्ष नरेश कुच्छल ने आग्रह किया कि व्यापारियों को आर्थिक क्षति न हो इसके लिए वह आगे से चीनी माल न खरीदे और न ही उसे बाजार में बेचे। इससे धीरे धीरे कर बाजार से चीनी माल का प्रभुत्व समाप्त हो सकेगा। उन्होंने बताया कि वर्तमान में बाजार के एक बड़े हिस्से पर चीनी माल की हिस्सेदारी है। ऐसे में यदि एक साथ ही इसे बंद कर दिया गया तो व्यापारियों को आर्थिक क्षति हो सकती है। बहराल, हरौला बाजार में दोपहर करीब एक बजे प्रतिनिधि मंडल के लोग एकत्रित हुए यहा सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए प्रतिनिधि मंडल के सदास्यों ने चीनी राष्ट्रपति का पुतला फूंका और हाथों में तख्तियां पर चीनी विरोधी नारे लिखकर विरोध प्रदर्शन किया। इस मौके पर वरिष्ठ महामंत्री मनोज भाटी, पियूष वालिया, दिनेश महावर , सोहनलाल, सोनू , प्रेम कुमार, राहुल कुमार , अवधेश , ठाकुर धीरज कुमार, श्याम , सुनील कुमार आदि लोग मौजूद रहे।