ई-कॉमर्स साइट ईबे ने उत्तर प्रदेश सरकार के साथ 'वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट' योजना के लिए हस्ताक्षर किए
August 7, 2020 • Akram Choudhary

 

- इस एमओयू से सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को अपने उत्पादों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बेचने के लिए एक प्लेटफार्म मिल जाएगा

 

मुंबई/दिल्ली(अमन इंडिया)। ई-कॉमर्स साइट eBay ने आज 'वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट (एक जिला एक उत्पाद)' योजना के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के साथ एक समझौता अनुबंध पर हस्ताक्षर किए हैं। इस एमओयू से उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को ईबे के जरिए एक प्लेटफार्म मिल जाएगा। इस अंतरराष्ट्रीय प्लेटफार्म से यहां के उत्पादों (प्रोडक्ट) को 190 देशों में बेचा जा सकेगा। एमओयू के तहत ईबे स्थानीय कला और शिल्प को बढ़ावा देने के साथ-साथ कौशल विकास और स्वरोजगार में भी मदद करेगा।

इस समझौते के कारण वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट (ODOP) के बिक्रेता और व्यापारी ग्लोबल स्तर पर स्थापित मार्केटप्लेस प्लेटफार्म का उपयोग कर दुनिया के 190 बाजारों में अपने उत्पादों का निर्यात कर सकेंगे। 

स्वदेशी क्राफ्ट व वस्तुओं को सशक्त बनाने और उन्हें बाजार की प्रतिस्पर्धा में सपोर्ट करने के लिए ईबे कई विशेष योजनाओं की पेशकश करेगा। ये योजनाएं खासतौर से ईबे से जुड़े विक्रेताओं और व्यापारियों के लिए होंगी। जिनमें वस्तुओं के मूल्य निर्धारण समेत अन्य लाभ शामिल होंगे। ईबे इन प्रोडक्ट के विक्रेताओं को विशेष ट्रेनिंग भी देगा, जिसमें उन्हें ऑनलाइन रिटेल के बारे में बताया जाएगा। साथ ही इस ट्रेनिंग में प्रोडक्ट की ऑनलाइन लिस्टिंग, शिपिंग पॉलिसी, प्रोडक्ट का विवरण और दुनिया भर के खरीदारों से ऑनलाइन लेन-देन के बारे में जरूरी जानकारी दी जाएगी। 

यूपी सरकार के एमएसएमई और एक्सपोर्ट प्रमोशन विभाग के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी (एसीएस) श्री नवनीत सहगल का कहना है कि "सरकार उद्यमशीलता को बढ़ावा देने के लिए एक ऐसा माहौल बनाने का काम कर रही है, जिससे हैंडीक्राफ्ट, चमड़े, लकड़ी और धातु के उत्पादों को एक बेहतर बाजार मिल सके। इस समय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों के उत्पादों को अंतरराष्ट्रीय बाजार तक पहुंचाने के लिए एक प्लेटफार्म की जरूरत है। ऐसे में ईबे जैसी कंपनियों की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण हो जाती है। ग्रामीण एमएसएमई और कारीगरों के साथ साझेदारी का लाभ उठाते हुए ईबे हमारे अन्य ई-कॉमर्स साझेदारों की तरह ओडीओपी से जुड़े लोगों को तमाम अवसर प्रदान कर सकता है। 'मेक इन इंडिया' अभियान को ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए एमएसएमई के साथ इस तरह की साझेदारी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। मुझे उम्मीद है कि ईबे हमें हैंडीक्राफ्ट और अन्य प्रोडक्ट के निर्यात का एक ग्लोबल हब बनाने में भी मदद करेगा।"

ईबे के इंडिया कंट्री मैनेजर श्री विद्मय नैनी ने इस समझौते के बारे में कहा कि, “हम उत्तर प्रदेश सरकार के 'वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट' प्रोग्राम के साथ साझेदारी कर खुश हैं। एक सच्चा प्लेटफार्म होने के नाते eBay ने हमेशा भारतीय बाजारों से एमएसएमई और कारीगरों की अपार संभावनाओं और दायरे को पहचाना है। इस समझौते के माध्यम से हम उत्तर प्रदेश के विक्रेताओं और कारीगरों को दुनिया भर में नए अवसर उपलब्ध कराकर प्रसन्नता का अनुभव कर रहे हैं। हम उत्तर प्रदेश से ई-कॉमर्स खुदरा व्यापार को बढ़ावा देने के लिए यहां की नीतियों में संशोधन लाने के लिए राज्य सरकार के साथ मिलकर काम करेंगे।" उन्होंने यह भी कहा कि, "हम दृढ़ता से माननीय प्रधानमंत्री की 'वोकल फॉर लोकल' की अपील के पक्ष में हैं और हम भारतीय उद्यमियों को वैश्विक स्तर पर बढ़ावा देंगे।"