जीएसटी के नए नियमों पर व्यापारियों ने जताया रोष
September 13, 2020 • Akram Choudhary

-इस आदेश के बाद व्यापारियों के उत्पीड़न की आशंका

-कोरोना संकट में व्यापारियों पर आर्थिक बोझ से कम नहीं निर्देश

नोएडा (अमन इंडिया)। उप्र उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के प्रमुख पदाधिकारियों की बैठक में जिलाध्यक्ष नरेश कुच्छल और चेयरमैन रामअवतार ने कहा कि वाणिज्य कर आयुक्त ने व्यापारियों की जांच एवं तलाशी के नए आदेश जारी किए हैं। इसके तहत हर माह वाणिज्यकर विभाग की विशेष अनुसंधान शाखा विभिन्न बिदुओं के आधार पर व्यापारियों की जांच करेगी।

सेक्टर-6 स्थित उप्र उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के कार्यालय के प्रतिष्ठान पर हुई बैठक में उन्होंने कहा कि मासिक टर्न ओवर में गिरावट या वृद्धि को आधार मानकर, वार्षिक टर्नओवर के आधार पर जो व्यापारी अपने देय टैक्स को आईटीसी में समायोजित कर देते हैं, ऐसे व्यापारियों की जांच के आदेश विभाग ने दिए हैं। यह आदेश व्यापारी समाज के साथ अन्याय है। कहा कि यदि व्यापारियों की जबरन जांच की गई तो उनका संगठन पुरजोर विरोध करेगा। साथ ही मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपेंगे। बैठक के दौरान प्रतिनिधियों ने कहा कि प्रदेश की वाणिज्य कर आयुक्त अमृता सोनी द्बारा जारी आदेश में वाणिज्य कर विभाग की विशेष अनुसंधान शाखा (एसआईबी) को हर माह कई बिदुओं के आधार पर कम से कम 1० कारोबारियों की जांच करने का अधिकार मिल गया है। अगर किसी कारोबारी के मासिक कारोबार में अप्रत्याशित वृद्धि या गिरावट है तो उसे भी जांच के दायरे में शामिल किया जाएगा। कोरोना संकट में व्यापाीरयों की अपना गुजर बसर करना मुश्किल होता दिख रहा है। व्यापार बंद है कारोबार है नहीं इस स्थिति में सरकार का यह आदेश व्यापारी वर्ग को आहत पहुंचाने वाला है। इस आदेश के बाद व्यापारियों के उत्पीड़न होने की आशंका है। मुख्यमंत्री से इस आदेश को वापस लेने की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि यदि ऐसा नहीं हुआ तो व्यापारियों के सामने आंदोलन के अलावा कोई विकल्प नहीं बचेगा। इस मौके पर वरिष्ठ महामंत्री मनोज भाटी, महामंत्री संदीप चौहान, कोषाध्यक्ष मूल चंद गुप्ता, महामंत्री दिनेश महावर, मीडिया प्रभारी चंद्र प्रकाश गौढ़, वारिस अली, अवधेश सिंह, रितिक गुप्ता, सोहन लाल, राहुल आदि मौजूद रहे।