मुख्यमंत्री द्वारा वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से मेरठ मण्डल के अंतर्गत जनपद गौतमबुद्धनगर में संचालित विकास कार्यक्रम एवं योजनाओं की बिन्दुवार समीक्षा की
September 18, 2020 • Akram Choudhary

 

*कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रभावी कार्यवाही की जाए, कोरोना प्रोटोकाॅल का कड़ाई से पालन सुनिश्चित हो।

*अधिकारीगण जनता की समस्याओं को गंभीरता से सुने, प्राप्त शिकायतों का समयबद्ध, गुणवत्तापरक निस्तारण किया जाए।

*जनप्रतिनिधियों द्वारा प्रस्तावित कार्याे को समय से पूरा करते हुये सांसद, विधायक निधि का जनहित में सदुपयोग किया जायें।

 

*लाभार्थीपरक योजनाओं का लाभ पूर्ण पारदर्शिता के साथ आमजन को प्राप्त हो, इस प्रकार कार्ययोजना तैयार की जायें।

*344 करोड़ की लागत से तैयार कोविड अस्पताल में आने वाले समय में 400 बेड की होगी व्यवस्था।*

*...योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार।*

 

गौतमबुद्धनगर (अमन इंडिया)। प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा वीडियांे कान्फ्रेंस के माध्यम से मेरठ मण्डल के जनपद गौतमबुद्धनगर के विकास कार्यो एवं कोविड-19 की गहन समीक्षा की गयी। इस अवसर पर उन्होंने जनपद से सम्बन्धित सांसद एवं विधायकगण से निर्माणाधीन विकास परियोजनाओं की प्रगति आदि के सम्बन्ध में फीडबैक प्राप्त की। उन्होंने विकास की गति को और तेज किये जाने के निर्देश देते हुये कहा कि परियोजनाओं और विकास कार्याे को समयबद्ध व गुणवत्तापूर्ण तरीके से मानकों के अनुरूप पूर्ण किया जायें। कार्यदायी संस्थाओं को कार्य किये जाने के समय यह सुनिश्चित किया जायें कि उनके पास उचित मैन पावर है या नही। इसके आधार पर ही कार्य आंबटित किये जाये। निर्धारित अवधि में कार्य के पूर्ण होने पर लागत में कमी आती है और आमजन को विकास योजनाओं का समय से लाभ प्राप्त होता है। उन्होंने कहा कि विकास के कार्यो के लिए शासन स्तर पर धनराशि की कोई कमी नही होगी।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार विकास एंव जनकल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से प्रदेश की जनता को लाभान्वित करने के लिए प्रतिबद्ध है। इस सम्बन्ध में किसी भी स्तर पर लापरवाही अथवा शिथिलता बरते जाने पर जवाबदेही तय की जायेगी। हमें कोरोना से लड़ना भी है और तेजी से विकास कार्य भी संचालित करने हैं। इसके दृष्टिगत वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव के लिए पूरी सतर्कता व सावधानी अपनाते हुय विकास कार्याे को तीव्र गति से पूर्ण किया जायें। कोविड-19 से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग व दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी स्लोगन का व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार कराते हुये जनता को जागरूक किया जायें। इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेन्टर के साथ-साथ कोविड अस्पतालों को निरन्तर सक्रिय रखा जाये।

मुख्यमंत्री जी ने वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से मेरठ मण्डल के अन्तर्गत जनपद गौतमबुद्धनगर में संचालित विकास कार्यक्रमों, जन कल्याणकारी योजनाओं, निर्माणाधीन परियोजनाओं आदि की समीक्षा के दौरान निर्देश देते हुये कहा कि एक जनपद एक उत्पाद योजना के तहत जनपद के विशिष्ट उत्पादकों को बढ़ावा देकर इनके प्रोडक्शन एवं मार्केटिंग सम्बन्धित आधारभूत सुविधा उपलब्ध करायी जायें। ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय, ग्राम सचिवालय भवनों के निर्माण कार्याे को गति प्रदान कर गुणवत्ता के साथ निर्माण कराया जायें। प्रधानमंत्री शहरी, ग्रामीण आवास योजना के अन्तर्गत आबंटित आवासों को तत्काल पूर्ण कराया जायें। उन्होंने कहा कि किसानों को समय से खाद, बीज, सिंचाई के लिए पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करायी जायें। उन्होंने कोविड-19 के प्रोटोकाॅल का पालन कराते हुये सम्पूर्ण समाधान दिवस आयोजित किये जाने के निर्देश देते हुये कहा कि तहसील समाधान दिवस के अवसर पर प्राप्त शिकायतों का निस्तारण समयबद्धता व गुणवत्तापरक रूप से करते हुये, शिकायतकर्ता को अवगत भी कराया जायें।*

जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर सुहास एल0वाई0 नेे मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया कि जनपद गौतमबुद्धनगर में 10 करोड़ से 50 करोड़ के मध्य की 11 परियोजनायें स्वीकृत है, जिनकी कुल लागत 337 करोड़ 86 लाख है, जिसके सापेक्ष 187 करोड़ 45 लाख की धनराशि अवमुक्त हुयी है, जिसमें से 154 करोड़ 53 लाख रूपये वर्तमान तक व्यय करते हुये 82.44 प्रतिशत कार्य में प्रगति है। स्वीकृत परियोजनाओं में राजस्व विभाग एवं न्यायिक अधिकारियों के आवास, मलकपुर स्टेेडियम निर्माण कार्य, वाणिज्य कर कार्यालय, दादरी सूरजपुर मार्ग पर, दादरी रेलवे स्टेशन पर पुल का निर्माण तथा डी0एफ0सी0सी0 के छः कार्य सम्मलित है। उन्हांेने बताया कि प्रधानमंत्री आवास शहरी योजना के अन्तर्गत 1112 लक्ष्य के सापेक्ष 1111 आवास पूर्ण कर लिये गये है। नयी सड़को का निर्माण एवं चैड़ीकरण तथा गड्डामुक्ति के सम्बन्ध में कार्य प्रगति पर है। घर घर नल योजना के अन्तर्गत 88 ग्रामों में 2728 नल स्थापित है तथा 20 पाईप पेय जल योजना क्रियाशील है। कर करेत्तर राजस्व संग्रह में 1807200.540 लाख वार्षिक लक्ष्य के सापेक्ष 354675.450 लाख का राजस्व प्राप्त किया गया है। स्वच्छ भारत मिशन नगरीय के अन्तर्गत 6 नगर निकाय के क्षेत्र में 84 वार्डो को ओ0डी0एफ0 कराते हुये शत्प्रतिशत पूर्ति कर ली गयी है। इसी प्रकार स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्तर्गत एल0ओ0बी0 प्रथम चरण में जनपद में 1870 शौचालयों का निर्माण एवं एन0ओ0एल0बी0 के तहत 441 शौचालयों का निर्माण करते हुये जियो टेगिंग का कार्य शत्प्रतिशत पूर्ण कर लिया गया। सामुदायिक शौचालयांे में 86 ग्रामसभाओं में 64 सामुदायिक शौचलय निर्माण लक्ष्य के सापेक्ष 33 की पूर्ति कर ली गयी है, 31 शौचालयों का निर्माण कार्य सितम्बर माह के अन्त तक पूर्ण कर लिया जायंगा। उन्होंने बताया कि जनपद में किसानों के लिए खाद्य एवं उर्वरक की उपलब्धता मानकों के अनुसार सुनिश्चित है। विगत माह माननीय मुख्यमंत्री जी के द्वारा 344 करोड़ रूपये की लागत से तैयार कोविड-19 अस्पताल का उद्घाटन किया गया था, जिसका सुचारू रूप से संचालन किया जा रहा है और आमजन को उसका लाभ प्राप्त हो रहा है। जनपद गौतमबुद्धनगर में कुल 248547 सैम्पल लिये गये, जिसमें से 10532 पाॅजिटिव केस प्राप्त हुये जिसमें 8617 लोगों की रिकवरी हो चुकी है और वर्तमान में जनपद गौतमबुद्धनगर में कोविड के 1867 मामलें सक्रिय है। जनपद मे पोजिटिव दर 4.25 प्रतिशत है और रिकवरी दर 81.81 है। कुल मृतकों की संख्या 48 है, जो 0.45 प्रतिशत है। सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास निधि योजना के अन्तर्गत कुल उपलब्ध धनराशि 480.76 लाख रूपये है, जिसमें 432.33 लाख रू0 की धनराशि स्वीकृृत कर दी गयी है। कार्यदायी संस्थाओं को अवमुक्त धनराशि 264.73 लाख रूपये है, जिसके सापेक्ष 133.95 लाख रूपये व्यय कर लिये गये है। निर्माणाधीन कार्यो की संख्या 41 है। विधानमण्डल क्षेत्र विकास निधि योजना के अन्तर्गत 938.44 लाख रू0 की धनराशि उपलब्ध है, जिसके सापेक्ष 848.06 लाख रूपये की योजना स्वीकृत है। 589.28 लाख रू0 कार्यदायी संस्थाओं का अवमुक्त कर दिये गये है, जिसके सापेक्ष 346.61 लाख रू0 व्यय कर लिया गया है। निर्माणाधीन कार्यो की संख्या-98 है। महात्मा गांधी रोजगार गारण्टी योजना मनरेगा के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2020-21 का भौतिक लक्ष्य 11049 मानव दिवसों के सृजन के सापेक्ष माह अगस्त 2020 तक 13765 मानव दिवसों का सृजन किया जा चुका है, जिसका प्रतिशत 216.77 है। वित्तीय लक्ष्य रू0 32.46 लाख के सापेक्ष माह अगस्त 2020 तक 27.86 लाख व्यय किया जा चुका है। उन्हांेने बताया कि जनपद में 04 परियोजनाओं में 03 परियोजनओं के अन्तर्गत पुनरीक्षित लागत की धनराशि शासन से अवमुक्त किया जाना अपेक्षित है तथा 02 कार्यो में स्वीकृत धनराशि के सापेक्ष अवशेष धनराशि स्वीकृत किया जाना अपेक्षित है। बैठक में मुख्य कार्यपालक अधिकारी ग्रेटर नोएडा एवं कोविड-19 के नोडल अधिकारी नरेंद्र भूषण, मुख्य कार्यपालक अधिकारी नोएडा विकास प्राधिकरण ऋतु महेश्वरी, जिला अधिकारी सुहास एल.वाई. मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह तथा अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे। जनप्रतिनिधियों के द्वारा ऑनलाइन इस बैठक में प्रतिभाग किया गया है।