नोएडा की अनंत्या आनंद को मिला आयोजित ग्लोबल चाइल्ड प्रॉडिजी अवार्ड
January 6, 2020 • Akram Choudhary

 

·       10 वर्षीय अनंत्या को उनके असाधारण अभिनय प्रतिभा के लिए किया गया सम्मानित

·       पुडुचेरी की राज्यपाल डॉ. किरण बेदी के हाथों अनंत्या को मिला पुरस्कार

·       यूट्यूब स्टार अनंत्या के यूट्यूब चैनल के हैं 4 मिलियन सब्स्क्राइबर

नोएडा(अमन इंडिया): नोएडा की 10 वर्षीय कलाकार अनंत्या आनंद को उनकी असाधारण अभिनय प्रतिभा के लिए शुक्रवार 3 जनवरी 2020 को नई दिल्ली में आयोजित ग्लोबल चाइल्ड प्रॉडिजी अवार्ड 2020 से सम्मानित किया गया। उन्हें यह सम्मान पुडुचेरी की राज्यपाल डॉ. किरण बेदी के हाथों दिया गया।

प्रतिष्ठित यूट्यूबर अनंत्या के यूट्यूब चैनल माय मिस आनंद के 4 मिलियन से ज्यादा सब्स्क्राइबर है। अपने चैनल पर अनंत्या प्रतिदिन की गतिविधियों,मज़ाक और कॉमेडी से संबंधित विडियो अपलोड करती हैं जिन्हें खूब सराहा और देखा जाता है। अब तक अपने चैनल पर 100 से अधिक वीडियो अपलोड किए हैं। यूट्यूब चैनल माय मिस आनंद कि शुरुआत जुलाई 2014 में ब्युटि ब्लॉगर श्रुति राज आनंद ने अपनी बेटी के लिए किया था। एक महीने बाद इस चैनल पर 3 सिम्पल एंड क्यूट हेयरस्‍टाइल’ नाम का एक विडियो अपलोड किया गया। इस विडियो में अपनी अदाकारी से अनंत्या ने लोगों को अपनी ओर आकर्षित किया और देखते-देखते उसका चैनल पोपुलर हो गया। अनंत्या के परिवार के कई सदस्य यूट्यूबर हैं जिसमें उनकी माँ भी शामिल हैं।  

ग्लोबल चाइल्ड प्रॉडिजी अवार्ड मिलने के बाद अनंत्या ने कहा कि मैं यह पुरस्कार पाकर बहुत खुश हूँ। मैं इस सम्मान के लिए संस्था और आयोजकों को धन्यवाद देना चाहती हूँ। मैं अपने वीडियो के माध्यम से दर्शकों का मनोरंजन करती हूँ और इसे जारी रखूंगी।

अनंत्या आनंद के अलावाविभिन्न क्षेत्रों में उनकी असाधारण प्रतिभा और योगदान के लिए ग्लोबल चाइल्ड प्रॉडिजी (जीसीपी) अवार्ड समारोह में कुल 100 बच्चों को सम्मानित किया गया। सम्मानित होने वाले बच्चों का आकलन विभिन्न मापदंडो के आधार पर चयन समिति द्वारा किया गया है। इस सूची में भारत के अलावा यूएसएयूके,यूएईस्पेन आदि देशों से सामाजिक कार्यलेखनउद्यमिताअभिनयमार्शल आर्टपेंटिंगमॉडलिंग आदि क्षेत्र में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाने वाले बच्चों का चयन किया गया है।

ग्लोबल चाइल्ड प्रॉडिजी अवार्ड के बारे में :

ग्लोबल चाइल्ड प्रॉडिजी (जीसीपी) अवार्ड कलासंगीतनृत्यलेखन,मॉडलिंगअभिनयविज्ञान और खेल जैसे विभिन्न श्रेणियों में बाल प्रतिभा को पहचानने के उद्देश्य से स्थापित अपनी तरह का पहला मंच है। इस पहल का उद्देश्य नवांकुरों की प्रतिभाओं को वैश्विक स्तर पर पहचान दिलाना,  सही समय पर सही अवसर प्रदान करना है ताकि वो अपने कौशल से समाज पर एक बड़ा प्रभाव पैदा कर सकें