नोएडा की प्रमुख संस्थाओ का बिजली आपूर्ति में चल रही गड़बड़ियों को लेकर मुख्य अभियंता को ज्ञापन दिया
August 4, 2020 • Akram Choudhary

 

नोएडा(अमन इंडिया)।नोयडा शहर में बिजली आपूर्ति में अत्यधिक गड़बड़ी व भ्रष्टाचार के विरुद्ध नोयडा की प्रमुख संस्थाओं नोयडा लोक मंच से महेश सक्सेना व विभा बंसल , नोयडा एंटेरप्रेनर असोसिएशन से विपिन मल्हन , फोनरवा से योगेन्द्र शर्मा व के के जैन, मौलिक भारत से अनुज अग्रवाल व उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल से नरेश कुच्छल , ने विभाग के मुख्य अभियंता बी एन सिंह को आज चार अगस्त को उनके कार्यालय में एक विस्तृत ज्ञापन सोपा। मौलिक भारत के महासचिव अनुज अग्रवाल न स्पष्ट किया कि बिजली की आपूर्ति में बाधा से होने वाले नुक़सान को बिंदुवार बताते हुए इस ज्ञापन में इससे उद्योग़ो, आइटी व मीडिया कंपनियों, ऑनलाइन पढ़ने वाले विध्यर्थियो व वर्क फ़्रोम होम करने वाले लाखों लोगों को होने वाली परेशानियों व इनके लिए विभाग को जिम्मेदार बताया गया है। नोयडा लोक मंच के महासचिव महेश सक्सेना ने बताया कि ज्ञापन में माँग की गयी है कि बिजली आपूर्ति बिना किसी बाधा के अनवरत की जाए व लॉकडाउन के कारण ख़राब आर्थिक स्थिति के बीच “ फ़िक्स चार्ज” व “न्यूनतम चार्ज” न लेने कल्कि भी माँग की गयी है।

 नगर की बिगड़ती बिजली वितरण की व्यवस्था की शिकायत व लॉकडाउन के कारण ख़राब आर्थिक स्थिति के बीच “ फ़िक्स चार्ज” व “न्यूनतम चार्ज” न लेने की माँग की

 हम सभी नोयडा के सामाजिक, आर्थिक, व्यापारिक व उधोग से जुड़ी संस्थाएँ आपके संज्ञान में शहर की बिजली व्यवस्था की आपूर्ति में आ रही चिंतनीय बाधाओं को लाना चाहते हैं। विभाग के मुखिया होने के नाते आप भी जानते है कि नोयडा शहर की बिजली आपूर्ति की व्यवस्था इन दिनो बुरी तरह चरमराई हुई है। आमजन बार बार बिजली की ट्रिपिंग, लंबे समय तक बिजली न आने व अनपेक्षित बिजली बिल आने की समस्या से परेशान हैं। बार बार संबंधित अधिकारियों से शिकायत करने पर वे ऊपर के आदेश के कारण सप्लाई न होने का बहाना बना देते हैं। घर , व्यापार व उद्योग सभी दिन में दर्जनो बार ट्रिपिंग से त्रस्त हैं। 

सभी कोरोना आपदा काल से गुज़र रहे है और उद्योग व्यापार ठप्प होने व नोकरिया छिन जाने या वेतन कम हो जाने के कारण सभी लोग आर्थिक तंगी में हैं। ऐसे समय में भी सभी लोग अपने बिजली के बिल समय से दे रहे हैं किंतु भारी मात्रा में राजस्व प्राप्ति के बाद भी विभाग की सेवाए व सुविधाएँ ख़स्ताहाल हैं। आपके संज्ञान में निम्न बिंदु लाना चाह रहे हैं-

१) कम माँग व उत्पादन के बीच बिजली आपूर्ति में बाधा व अधिक बिल आने से उधोगो को चलाए रखना चुनोतीपूर्ण हो गया है। अगर विभाग का यही हाल रहा तो अनेक उद्योगों को बंद करने की नोबत आ जाएगी। ऐसे में प्रधानमंत्री जी व मुख्यमंत्री जी के आत्मनिर्भर भारत अभियान का क्या होगा ? क्या इसी प्रकार शहर की विश्व स्तरीय छवि बन पाएगी व विदेशी निवेश यहाँ आ पाएगा? 

२) शहर में सभी प्रमुख आइटी कम्पनियाँ व मीडिया हाउस स्थापित है व इन दिनो सभी के कर्मचारी वर्क फ़्रोम होम कर रहे हैं। बिजली आपूर्ति में बाधा आने के कारण उनको कार्य करने में बहुत ज़्यादा परेशानी हो रही है जो उचित नहीं।

३) पूरे शहर व ज़िले में २४ x ७ बिजली की आपूर्ति सुनिचित की जाए।

४) सभी बिजली उपकेंद्रो पर ट्रिपिंग के रिकार्ड्स को रखा जाए जो विभाग के पोर्टल पर हमेशा उपलब्ध रखा जाए।

५)बिजली विभाग की शहर के लिए हेल्पलाइन अधिक प्रभावी बनायी जाए। आशा है कि आप तुरंत इन बिंदुओ पर कार्यवाही करेंगे।इस संदर्भ में हमारे प्रतिनिधिमंडल को मिलने का समय दिया जाए ताकि इन समस्याओं के बारे में गहराई से बता सके।नोयडा लोक मंच , नोयडा एंटेरप्रेनर असोसिएशन, फोनरवा,मौलिक भारत, उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल, नोयडा इकाई