पाकिस्तान में धार्मिक तौर पर उत्पीड़न लगातार जारी- गोपाल कृष्ण अग्रवाल
January 6, 2020 • Akram Choudhary





नोएडा-(अमन इंडिया):नागरिकता कानून पर जनजागरण अभियान के तहत सेक्टर 50 के कम्युनिटी सेंटर में एक गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य वक्ता के तौर पर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता गोपाल कृष्ण अग्रवाल ने शिरकत की । कार्यक्रम की अध्यक्षता यूपी पुलिस के पूर्व डीजीपी विक्रम सिंह ने की एनं विशिष्ट अथिति के रूप में मुफ्ती शमून कासमी मौजूद रहे । कार्यक्रम का आयोजन नॉएडा डायलॉग के तत्वाधान किया गया ।
कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए भाजपा प्रवक्ता गोपाल कृष्ण अग्रवाल ने कहा कि सीएए किसी के खिलाफ नहीं है बल्कि पाकिस्तान , अफगानिस्तान, बांग्लादेश में धार्मिक उत्पीड़न के शिकार लोगों को नागरिकता देने का कानून है । उन्होंने कहा कि कानून तो पास हो गया है लेकिन जो भी लोगों की शंकाएं है उन सभी पर चर्चा की गई थी । 
उन्होंने कहा कि लोगों की ये भी चिंता है कि क्या सीएए संविधान सम्मत है तो मैं कहना चाहूंगा कि ये संविधान के किसी भी प्रावधान उल्लघंन नहीं किया गया है लेकिन सुप्रीम कोर्ट तय करेगा कि ये सविंधान सम्मत है या नहीं। और क्या इस कानून की क्या आवश्यकता थी या नहीं उन्होंने कहा कि मैं पाकिस्तान से आए हुए लोगों के साथ बहुत लम्बे समय के काम करता रहा हूं तो उनकी प्रताड़ना देख कर मैं कह सकता हूं कि इस कानून की बहुत जरूरत थी । भारत ने नेहरू –लियाकत पैक्ट की हर बात को अक्ष:रस लागू किया गया लेकिन पाकिस्तान ने इस समझौते को कभी भी पूरा नहीं किया गया । उन्होंने उदाहरण देते हुए समझाया कि 2011 में एक लड़की राधा कि मृत्यू हो गई जिसकी पाकिस्तान में 11 दिन दाहसंस्कार नहीं करने दिया गया ।  उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में ब्लासफेमी एक्ट का दुर्पयोग धार्मिक अल्पसंख्यक के खिलाफ होता है । 
कार्यक्रम में सवाल-जवाब के दौर में पूर्व डीजीपी विक्रम ने कहा कि अगर जैसे नेता चुनाव के दौर में जैसे घर घर घुमते हैं वैसे स्थानीय सांसद अगर अपने अपने क्षेत्र जनजागरूकता अभियान चलाए होते तो आज सब ठीक होता  
कार्यक्रम में विशिष्ट अथिति मुफ्ती शमून कासिमी ने कहा कि ने कहा हम सभी एक परम शक्ति के संतान हैं ओम ही अल्लाह है। उन्होंने कहा कि मुसलमानों की विडम्बना है कि उन्हें समझाने वाले खुद ही नासमझ हैं उन्होंने कहा कि भारत ही विश्म में एकमात्र देश है जिसने सभी अच्छाईयों को सदैव आश्रय दिया है  ।
उन्होंने कहा की जब भारत का बंटवारा हुआ तो लोग जानते ही नहीं थे कि धर्म क्या है धर्म करुणा प्यार का नाम है बंटवारा के समय़ लोगों ने जो देखा वो तो उन्माद था । उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में आज भी जो इस क्षेत्र के मुसलमान गए थे उन्हें आज भी मुहाजिस कहा जाता है । भारत में जितनी सुविधा हासिल है विश्व में किसी भी मायनोरिटीज को इतना हक हकूक हासिल नहीं है ।  उन्होंने कहा एकता और भाई चारा बना रहना चाहिए क्योंकि हमारे दूध और खून एक हैं हिंसा को किसी भी तरह जायज नहीं ठहराया जा सकता और जिन्होंने ये किया है वो गलत है।
कार्यक्रम में आमंत्रित संस्था पतंजलि योगपीठ , आर्ट ऑफ लिविंग चिन्मय मिशन, भारत विकास परिषद , श्रीजी गौसदन, जलाधिकार फाउंडेशन, भारतीय जनता पार्टी , हिन्दू युवा वाहिनी , मुस्लिम राष्ट्रीय मंच , पूर्व सैनिक परिषद , भारतीय वित्त सलाहकार समिति, नॉएडा मैनेजमेंट एसोसिएशन, एनईए अग्रवाल मित्र मंडल  आदि रहीं।