पेंडेमिक (खतरनाक महामारी) जिसका अर्थ है जब कोई बीमारी पूरे विश्व में फैल जाती है वो है कोरोना वायरस:डॉ नीतू सिंह
March 25, 2020 • Akram Choudhary

एन सी आर:अटलांटा हॉस्पिटल वसुंधरा गाज़ियाबाद की वरिष्ठ फीजिशियन डॉक्टर नीतू सिंह ने कोरोना वायरस के बारे में जानकारी देते हुए बताया की यह बिमारी एक खतरनाक महामारी का रूप ले चुकी है। जब कोई बीमारी एक शहर से दूसरे शहर तथा एक राज्य से दूसरे राज्य में पहुचने लगती है तो वो महामारी कहलाती है। मगर इससे भी खतरनाक है पेंडेमिक (खतरनाक महामारी) जिसका अर्थ है जब कोई बीमारी पूरे विश्व में फैल जाती है उसका असर संसार के सभी व्यक्तियों पर होने लगता है तथा हमारा इम्मयून सिस्टम इसे झेलने के लिए तैयार नही होता और जिसका कोई उपचार संभव नही होता है वो पैंडेमिक कहलाती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के आदेशानुसार यह बीमारी पेंडेमिक बन चुकी है साथ ही यदि भारत में भी चीन या इटली जैसे हालात पैदा होते है तो देशभर के अस्पतालों व डॉक्टरों को अधिक मात्रा में पी.पी.ई (पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट) की जरूरत पड़ेगी जबकि भारत के डॉक्टरों के पास अभी पी.पी.ई की मात्रा बहुत कम है जिसके बिना कोरोना से लड़ना बहुत मुश्किल है। डा. नीतू ने बताया कि हमारे देश में कोरोना का तीसरा स्टेज शुरू हो गया है जिसमें की यह बीमारी बहुत तेजी से फैलती है साथ ही उन्होंने बताया कि देश के प्रधानमंत्री जी ने कहा कि हमे केवल दो बातों पर ध्यान देना होगा संकल्प और सयंम जिसकी वजह से हम डॉक्टरों को आपको समझाने में आसानी हुई कि यदि आप खुद को इस बीमारी से बचा कर रखते है तो दूसरों को भी बचने में मदद करते है।
इससे बचाव के लिए डा. नीतू बताती है कि हमे इससे घबराना नही है क्योंकि इस बीमारी का उपजाउपन मात्र 1-2% यानी बहुत कम है मगर इसका संक्रमण रेट बहुत अधिक है इसके लिए आपको सोशल गेदरिंग, शादी पार्टी व अन्य मेल जोल से खुद को दूर रखना होगा। घर के सभी छोटे बच्चे (5 साल से नीचे) व बुज़ुर्गों (60 साल से अधिक) को घर में ही रहने की सलाह दे व बाहर न घूमने जाने का अनुरोध करें। साथ ही हो सके तो हर समय अपने पास एक किट बना कर रखें जिसमे की दस्ताने, मास्क, हैंड सेनेटाइजर, साबुन व जरूरत की सभी दवाइयां रखे। अपनी इम्मयूनिटी को स्ट्रांग करने के लिए घरेलू नुस्खे जैसे कि निम्बू के छिलकों का पेय, तुलसी का पेय व अदरक का पेय इस्तेमाल करे। साथ ही अपनी सोच को पॉजिटिव रखें कि हम आसानी से इस बीमारी से जीत जाएंगे व अफवाहों से दूर रहे।