फैशन पाठ्यक्रम कैरियर विकल्प के रूप में उभरा: अक्षय मारवाह
September 10, 2020 • Akram Choudhary

 नोएडा (अमन इंडिया)। फैशन डिजाइनिंग की दुनिया ने समय के साथ-साथ अपने आप को स्थापित किया है, पहले यह एक शौक माना जाता था, लेकिन आज यह एक पूर्ण पेशेवर कैरियर विकल्प के रूप में उभरा है। इसे एक कला के रूप में जाना जाता है।

यह जानकारी एएएफटी यूनिवर्सिटी ऑफ मीडिया एंड आर्ट्स के अक्षय मारवाह ने दी। उन्होंने बताया कि फैशन का उपयोग विभिन्न विषयों और घटनाओं के माध्यम से प्रकाश में लाने और महत्वपूर्ण मुद्दों और विषयों को व्यक्त करने के लिए भी किया जाता है। इसलिए, इच्छुक उम्मीदवारों को इस उद्योग के महत्व को समझना चाहिए। फैशन उद्योग के महत्व को व्यक्त करते हुए अक्षय मारवाह ने कहा की फैशन और स्टाइल की दुनिया में रुचि रखने वालों के लिए अवसरों का एक पूल बन गया है। इसमें रूचि रखने वाला कोई भी व्यक्ति एएएफटी में प्रशिक्षण के साथ अपना कैरियर बना सकता है। उद्योग के विभिन्न पहलुओं को सीखने और तकनीकी अंतर्दृष्टि विकसित करने के लिए व्यावसायिक शिक्षा आवश्यक है। 12 वीं तक की पढ़ाई पूरी करने के बाद ही कोई फैशन डिजाइन की डिग्री या डिप्लोमा प्रोग्राम में शामिल हो सकता है। जबकि डिग्री कोर्स 3 या 4 साल का पूरा कोर्स है। एएएफटी विश्वविद्यालय इसके साथ-साथ उद्योग-विशिष्ट यूजी व पीजी फैशन डिजाइनिंग पाठ्यक्रमों की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है। यहां के छात्रों को ज्ञान विकसित करने और वैश्विक कला के रूप में उद्योग की समझ हासिल करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।