राहुल राजपूत की नृशंस हत्या के आरोपियों को फांसी की सजा दी जाये - राष्ट्र निर्माण पार्टी 
October 14, 2020 • Akram Choudhary

 

दिल्ली(अमन इंडिया)।धर्म एक दूसरे से प्रेम करना सिखाता है और कोई भी धर्म ग्रंथ नफरत फ़ैलाने के लिए नहीं लिखा जाता लेकिन पिछले कुछ समय से देश में लव जिहाद को लेकर कई तरह से कई कट्टर पंथियों द्वारा कई मासूम लोगो राहुल राजपूत ,अंकित सक्सेना या ध्रुव त्यागी की हत्या हो चुकी है इन हत्याओं की कड़ी निंदा करती है राष्ट्र निर्माण पार्टी, जिसके राष्ट्रीय महासचिव आनंद कुमार ने अपने कार्यकर्ताओं के साथ जंतर मंतर पर धरना प्रदर्शन किया, उन्होंने बताया की दिल्ली के आदर्श नगर क्षेत्र में कुछ मुस्लिम कट्टर पंथियों द्वारा राहुल राजपूत की की जघन्य हत्या की गयी और हम अपराधियों के लिये फांसी की सजा की मांग करते है, जिसमें सही तरह से अनुसंधान करने, अभियोजन शीघ्र ही पूरा करने, गवाहों एवं परिवार को सुरक्षा प्रदान करने पर बल दिया। 

यदि अपराधी चाहते तो वे राहुल राजपूत को चेतावनी देकर छोड सकते थे, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया क्योंकि वे पूर्व से ही हत्या की योजना बना चुके थे। उसे यह सजा इसलिये दी गयी कि उसने किसी मुस्लिम लडकी से प्यार या दोस्ती करने की हिमाकत कैसे की? दिल्ली ने सभवतः पहली बार मोब लिंचिंग को इतने निकट से देखा। 

जब लव जिहाद पर चर्चा होती है तो सभी मुस्लिम राजनेता व धर्मगुरु संविधान व धर्म निरपेक्षता की दुहाई देकर इस प्रकार के संबन्धों को सही ठहराते हैं पर ये सारी चीजें तभी तक लागू होती हैं जब लड़का मुस्लिम हो और लड़की हिन्दू हो, यदि लड़का हिन्दू है और लड़की मुस्लिम है तो फिर वहां न संविधान लागू होता है न धर्मनिरपेक्षता, वह हिन्दू सांप्रदायिकता हो जाती है और वहां शरिया कानून से निर्णय होता है। ऐसे में मुस्लिम राजनेता व धर्म गुरुओं में सन्नाटा पसर जाता है। वे इन घटनाओं की निन्दा करना तो दूर उस पर चर्चा करना भी उचित नहीं समझते। इन दोहरे मापदंडों की राष्ट्र निर्माण पार्टी निन्दा करती है और मांग करती है कि सभी नेता व धर्म गुरु सर्वधर्म सद्भाव को आगे बढायें। हम सबकी एक ही मांग है कि यदि मुस्लिम लडका व हिन्दू लडकी की शादी संविधान के अनुकूल है तो हिन्दू लडके की मुस्लिम लडकी के साथ शादी भी संविधान सम्मत है। जो लोग कानून को हाथ में ले रहे हैं सरकार उनके साथ कठोरता से निपटे।