सैमसंग इनोवेशन अवार्ड समारोह आईआईटी-आईएसएम धनबाद में हुआ आयोजित
November 10, 2020 • Akram Choudhary

 

 

टॉप-10 फाइनलिस्‍ट ने जूरी सदस्‍यों के सामने किया मल्‍टीमीडिया, विजन, आईओटी, कृषि और

मेडिसिन पर अपने प्रोजेक्‍ट्स का प्रदर्शन

दिल्ली(अमन इंडिया)।  सैमसंग इंडिया ने छात्र-शिक्षक टीम द्वारा किए गए इनोवेशंस, जिनमें दैनिक जीवन में क्रांति लाने की क्षमता है, को प्रशंसित और पुरस्‍कृत करने के लिए सैमसंग इनोवेशन अवार्ड के 10वें संस्‍करण का आयोजन भारतीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान (आईआईटी) आईएसएम धनबाद में किया। पिछले साल के मुकाबले, इस साल कार्यक्रम बहुत अधिक तकनीक आधारित था क्‍योंकि छात्रों ने अपने प्रोजेक्‍ट्स का प्रदर्शन पूरी तरह से वर्चुअल सेटअप में किया। इस साल के कार्यक्रम की थीम इंटेलीजेंस ‘स्‍पॉनिंग’ ऑन डिवाइसेस थी और छात्रों ने मल्‍टीमीडिया, विजन, आईओटी, कृषि और मेडिसिन पर अपने प्रोजेक्‍ट्स को प्रदर्शित किया।

सैमसंग आरएंडडी इंस्‍टीट्यूट-बेंगलुरु (SRI-B) के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट और चीफ टेक्‍नोलॉजी ऑफि‍सर

डा. आलोकनाथ डे ने पुरस्‍कार प्रदान किए गए। टॉप-3 विजेताओं को 2.3 लाख रुपए के पुरस्‍कार प्रदान किए गए, जबकि अन्‍य फाइनलिस्‍ट को सैमसंग की ओर से सर्टिफिकेट प्रदान किए गए।

अवार्ड कार्यक्रम के लिए जूरी पैनल में आईआईटी (आईएसएम) के प्रो. ताराचंद अमगोठ, डिपार्टमेंट ऑफ कम्‍प्‍यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग और प्रो. अजीत कुमार, डिपार्टमेंट ऑफ माइनिंग मशीनरी इंजीनियरिंग शामिल थे। कार्यक्रम में उद्घाटन भाषण प्रो. धीरज कुमार, डीन (इंटरनेशनल रिलेशन एंड एल्‍यूमनी अफेयर्स), आईआईटी (आईएसएम) ने दिया और कार्यक्रम के निर्बाध आयोजन को सुनिश्चित किया।

पहला पुरस्कार आयुष सोमानी, गौरव कुमार और ज्ञानेंद्र दास को उनके प्रोजेक्‍ट ‘इनवो-एआई’ (Invo-AI) के लिए दिया गया। यह एक इन्‍नोवेटिव ई-इनवॉइसिंग समाधान है। दूसरा पुरस्‍कार साई भार्गव रेड्डी वूतकुरु, कोटापति सिद्धार्थ चौधरी और राहुल केडिया को उनके प्रोजेक्‍ट ‘बायोमास लॉजिक्‍स’ (Biomass LogicS) को दिया गया। अंकिता जैसवाल, सोम्‍या जैन और प्रकृरित राज के प्रोजेक्‍ट ‘ट्राई फर्स्‍ट’ (Try First) को तीसरा पुरस्‍कार मिला। फाइनल राउंड में पहुंचे अन्‍य सात टीमों को भी क्रमानुसार पुरस्‍कृत किया गया।

डा. आलोकनाथ डे, सीनियर वाइस प्रेसिडेंट और चीफ टेक्‍नोलॉजी ऑफिसर, सैमसंग आरएंडडी इंस्‍टीट्यूट- बेंगलुरुबेंगलुरु (एसआरआई-बी) ने कहा, “साल-दर-साल, इनोवेटिव और भविष्‍योन्‍मुखी विचारों के साथ युवाओं को सामने आते देख हमें काफी खुशी है। जो चीज हमें प्रभावित करती है, वह है कि कैसे नवीनता लाते हैं, कैसे तकनीक को गहराई से लागू करते हैं और कैसे प्रोटोटाइप का निर्माण करते हैं। सैमसंग इनोवेशन अवार्ड के इस दसवें संस्‍करण में, आईआईटी (आईएसएम) धनबाद के छात्रों ने थीम ‘इंटेलीजेंस स्‍पॉनिंग ऑन डिवाइसेस’ के अनुरूप अपने उत्‍साह का प्रदर्शन किया।

धीरज कुमार, डीन (इंटरनेशनल रिलेशंस एंड एल्‍युमनी अफेयर्स), आईआईटी (आईएसएम) ने कहा, “आईआईटी (आईएसएम) धनबाद को सैमसंग इनोवेशन अवार्ड के 10वें संस्करण की मेजबानी करने पर काफी खुशी है। सैमसंग इनोवेशन अवार्ड 2020 एआई, डिजिटल हेल्‍थ, आईओटी, ऑटोनोमस व्‍हीकल, सिक्‍यूरिटी सहित अन्‍य क्षेत्रों में नवोदित आईआईटी छात्रों की छिपी हुई क्षमता को प्रोत्‍साहित करेगा।” 

इन वर्षों में, इस कार्यक्रम ने सैमसंग आरएंडडी इंस्‍टीट्यूट बेंगलुरु (एसआरआई-बी) को आईआईटी दिल्‍ली, रुड़की, कानपुर, इंदौर और मुंबई सहित भारतीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान (आईआईटी) की विभिन्‍न इकाईयों में छात्र संगठनों के साथ सहयोग करते हुए देखा है, जिसमें उन्‍हें अपने जुनून को खोजने में मदद करने और उनकी पेशेवर यात्रा और विकल्‍पों को चुनने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभा रहा है

2011 में संकल्पित और शुरू किए गए सैमसंग इन्‍नोवेशन अवॉर्ड का उद्देश्‍य छात्रों के बीच इन्‍नोवेशन और उद्यमशीलता को बढ़ावा देना है। अवार्ड का उद्देश्‍य ऐसी प्रतिभाओं की मदद करना है, जो एक आविष्‍कारशील दृष्टिकोण का प्रदर्शन करते हैं और ऐसे उत्‍पादों एवं समाधानों को विकसित करते हैं, जो समाज की वास्‍तविक सयम की समस्‍याओं को हल करते हैं।

एसआरआई-बी ने उद्योग की जरूरतों को पूरा करने के लिए एडवांस डेवलपमेंट के साथ भारतीय इनोवेशन ईकोसिस्‍टम को प्रोत्‍साहित करने और छात्रों के बीच क्षमता निर्माण करने के लिए इस साल एक विशिष्‍ट उद्योग-शैक्षणिक कार्यक्रम सैमसंग प्रिज्‍म (प्रिपेयरिंग एंड इंसपाइरिंग स्‍टूडेंट माइंड्स) की भी शुरुआत की है।