शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म क्वाइ ने क्रिसमस की पूर्व संध्या पर बांटीं खुशियां
December 25, 2019 • Akram Choudhary
एप ने मौके को बच्चों के लिए बनाया खुशनुमा और अपने यूजर्स को दिए नए अनुभव...

नोएडा (अमन इंडिया): दुनिया के अग्रणी शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म क्वाइशो ने आज खुशी के त्योहार क्रिसमस की पूर्व संध्या पर नोएडा के डिजायर सोसायटी अनाथालय के बच्चों के साथ क्रिसमस मनाया। रोजाना 20 करोड़ एक्टिव यूजर्स वाले चीन के इस एप ने 2017 में अपना इंटरनेशनल वर्जन क्वाइ लॉन्च किया था। यह आयोजन क्वाइ के तत्वावधान में किया गया।

आयोजन की शुरुआत क्वाइ के इन्फ्लुएंसर्स की ओर से डांसिंग परफॉर्मेंस के साथ हुई। इसके बाद अनाथालय के स्टाफ और क्वाइ के यूजर्स व भारत में क्वाइ के ऑफिस के अधिकारियों के साथ बच्चों ने भी डांसिंग, पेंटिंग और गेम खेलने का आनंद लिया। इसके बाद क्वाइशो टेक्नोलॉजी ने बच्चों को उपहार एवं कपड़े, खेल के सामान, खिलौने व खाने की वस्तुएं दीं।

क्वाइशो टेक्नोलॉजी के ग्लोबल ऑपरेशन हेड वु यान ने कहा, “बच्चों की मुस्कान दिल जीत लेने वाली होती है। यह हमारी तरफ से एक छोटी सी कोशिश है और आगे हम ऐसे और भी आयोजन करेंगे।“ उन्होंने कहा कि बच्चों के साथ कुछ अच्छा वक्त बिताते हुए क्वाइशो ने अपने आप को समाज से जोड़ा और प्रसन्नता एवं प्रेरणा का संचार किया।

वु ने कहा कि क्वाइ का मानना है कि हर व्यक्ति का जीवन महत्वपूर्ण है। क्वाइ सभी भारतीय यूजर्स को अपनी रोजाना की जिंदगी के किस्से और टैलेंट को शेयर करने का मंच दे रहा है।

यह कहानी है 22 वर्षीय छात्र कुणाल शर्मा की जो कोटपुतली के छात्र हैं और अभी दिल्ली में रहते हैं। कुणाल शर्मा के पास क्वाइ पर 1,30,000 फॉलोअर्स हैं। वह शुरुआत से ही इस प्लेटफॉर्म से जुड़े हैं और कॉमेडी व डांसिंग वीडियो शेयर कर इस पर लोकप्रिय हुए हैं। उन्होंने कहा, “मुझे यह एप बहुत पसंद है। मैं हमेशा दोस्तों को अपने वीडियो दिखाता हूं और वे मुझे क्वाइ स्टार कहते हैं।“ कुणाल बताते हैं कि इस एप पर मिलने वाला फन और इसके खास फीचर इसे अन्य वीडियो शेयरिंग एप से अलग करते हैं। इसमें कैमरा इफेक्ट, फिल्टर, मैजिक फेस फीचर बहुत शानदार हैं और इस पर शॉर्ट वीडियो बनाना बहुत आसान है। इस पर कई ट्रेंडिंग वॉल्युम भी हैं, जिनका इस्तेमाल किया जा सकता है।

कुणाल ने बताया कि क्वाइ से जुड़ने से उनकी जिंदगी बदल गई। इस पर लोकप्रिय होने और बेहतर वीडियो बनाने के बाद क्रिएटर बोनस और विज्ञापन के जरिये उन्हें कमाने का मौका भी मिला है। उन्होंने कहा, “यह वाकई अच्छा लगता है कि आपको उस काम के लिए पैसे मिलें, जो करना आपको पसंद है।“

एप के एक आंतरिक सर्वे के मुताबिक, भारतीयों के बीच कॉमेडी वीडियो सर्वाधिक लोकप्रिय हैं। इसके बाद म्यूजिक और डांस वीडियो का नंबर आता है। शायरी और मोटिवेशनल वीडियो भी काफी पसंद किए जाते हैं।

वु ने बताया कि कंपनी स्थानीय जरूरतों को समझने और अपनाने पर ध्यान केंद्रित करती है और हमारा लक्ष्य है कि लोकल यूजर्स को ऐसी चीजें मिलें जो उनके लोकल कल्चर के हिसाब से हों और गुणवत्तापूर्ण हों। क्वाइ की मदद से हम भारतीय यूजर्स तक पहुंचने और उन्हें यह समझाने की कोशिश कर रहे हैं कि कैसे शॉर्ट वीडियो बनाना आनंद के साथ-साथ फायदेमंद भी हो सकता है।

क्वाइशो को 2 दिसंबर को एपल के एंड ऑफ द ईयर एप अवार्ड के दौरान एपल की तरफ से ट्रेंड ऑफ द ईयर को डिफाइन करने वाले एप के तौर पर भी नामित किया गया है।

क्वाइशो टेक्नोलॉजी के सह-संस्थापक यांग युवांक्सी ने कहा कि क्वाइशो सबसे अलग है, क्योंकि इसमें सबके लिए जगह है। इसका आसान एल्गोरिदम इस्तेमाल करने के लिहाज से सभी के लिए आसान है।

उन्होंने कहा, “क्वाइशो ने समानता और समावेश को सबसे ज्यादा अहमियत दी है। यह हर कंटेंट क्रिएटर को आगे बढ़ने का मौका देता है। इस एप में सभी के लिए बराबर ट्रैफिक रहता है, जिससे यह सुनिश्चित होता है कि हर परिवेश से आने वाले लोग आसानी से इसका इस्तेमाल कर सकें और यहां अपनी आंतरिक खुशी हासिल कर सकें।“